Hindi poems to reinforce number names

Today I am starting a category of ‘Hindi Poems’ in my blog. Poems teach children how language works. They introduce children to idea of storytelling and promote language development.

Hindi poems for kids are called ‘Balkavita (बालकविता )’ or ‘Balgeet ( बालगीत )’.

First in the series, I am presenting some Hindi poems to teach number names to kids. These are fun and interesting. Please try out with your kids.Use actions, facial expression and vary your voice to capture their interest.

Hindi Poem ‘Raja ka beta’ हिंदी कविता – राजा का बेटा

Hindi Poem ‘Ginti Geet’ हिंदी कविता – गिनती गीत

Hindi Poem ‘Raja ki beti’ हिंदी कविता – राजा की बेटी

Hindi Poem ‘Das tak ginti’ हिंदी कविता – दस तक गिनती

Hindi Poem ‘Ek Do Teen Char’ हिंदी कविता – एक दो तीन चार

Hindi Poem ‘Falo ki tokri’ हिंदी कविता – फलों की टोकरी

Advertisements

Hindi Poem ‘Raja ka beta’ हिंदी कविता – राजा का बेटा

राजा का बेटा

एक बड़े राजा का बेटा,

दो दिन से भूखा था लेटा,

तीन महात्मा सुन कर आए,

चार दवा की पुड़िया लाए,

पाँच मिनट में गरम कराई,

छः-छः घंटे बाद पिलाई,

सात दिनों में नैना खोले,

आठ दिनों पीछे कुछ बोले,

नौ दिनों में ताकत आई ,

दसवें दिन बाद दौड़ लगाई !

Author – Anonymous

 

Also check out another version of this poem at

Hindi Poem ‘Raja ki beti’ हिंदी कविता – राजा की बेटी

Hindi Poem ‘Raja ki beti’ हिंदी कविता – राजा की बेटी

राजा की बेटी

एक राजा की बेटी थी,

दो दिन से बीमार पड़ी,

तीन डाक्टर सुन कर आए,

चार दवा की पुड़िया लाए,

पाँच बार घिस गरम कराई,

छः-छः घंटे बाद पिलाई,

सात दिनों में आँखें खोलीं,

आठ दिनों में हँस कर बोली,

नौ दिनों में ताकत आई,

दसवें दिन उठ दौड़ लगाई।

Author – Anonymous

Hindi Poem ‘Das tak ginti’ हिंदी कविता – दस तक गिनती

दस तक गिनती

एक है मुर्गी, दो है अंडे,

तीन तितलियाँ, चार है झंडे।

पाँच उंगलियाँ, छह हैं घोड़े,

सात सिपाही, आठ पकौड़े।

नौ हैं कलियाँ, तारे दस,

हो गई गिनती, आ गई बस।

Author – Anonymous

Hindi Poem ‘Ek Do Teen Char’ हिंदी कविता – एक दो तीन चार

एक दो तीन चार

एक दो तीन चार,

आज शनि है कल इतवार।

पाँच छः सात आठ,

याद करूँ मै अपना पाठ।

इसके आगे नौ और दस,

गिनती हो गई पूरी बस।

Author – Anonymous

Hindi Poem ‘Falo ki tokri’ हिंदी कविता – फलों की टोकरी

फलों की टोकरी

फलों की एक टोकरी में,
सजे थे दो अनार।
तीन सुन्दर संतरे थे ,
केले रखे थे चार

पाँच लाल सेब भी थे ,
छह थे पीले आम।
सब्जियों का टोकरी में,
नहीं था कोई काम।

सात मीठे आड़ू थे ,
आठ थे संग में बेर।
जल्दी खाने आ जाओ,
अब ना करो देर।

हरी-हरी नौ मौसमियाँ थी,
रस से थी भरपूर।
सभी फलों के ऊपर,
रखे दस अंगूर।

Author – Anonymous